भारत में पैसा एवं नोट कैसे छपते हैं RBI Process

RBI paise kab aur kaise chapta hai नमस्कार दोस्तों, हम अक्सर यह सुनते हैं की भारत का RBI बैंक पैस छापता हैं। क्या आपको इस बात का अंदाजा हैं की आखिर वो कब और कैसे पैसे छापता हैं और इन सब प्रोसेस में क्या और किस प्रकार की प्रक्रियों से गुजरना होता हैं।

आपको इस विषय के बारे में जानकारी देने के लिए ही इस लेख को हम आपके लिए लेकर आये हैं। इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। अंत इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दी जा सके। 

इस लेख के अतं तक आप यह समझ पायेंगे की रिज़र्व बैंक नोट कब छापती हैं और इस तरह से छापती हैं और इसने लिए क्या प्रोसेस होता हैं।

RBI क्या हैं ? 

यह भारत की एक केन्द्रीय बैंक हैं जिसकी स्थापना देश की आजादी से पहले हुई थी। इस बैंक की स्थापना 1935 में हुई थी। यह बैंक भारत की सभी बैंक पर एक मुख्य बैंक हैं और प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से देश की किसी अन्य बैंक से खुला हुआ खाता इस बैंक से भी जुड़ा हुआ हैं। 

देश में बनी यह बैंक भारत में केंद्र सरकार के अधीन हैं और यह देश में मुद्रा छापने का काम भी करती हैं। इसके अलावा देश में वित्तीय संसाधनों की जिम्मेदारी भी कही न कही इसी बैंक के पास हैं।

भारतीय मुद्रा रुपया :

हम हमारे दैनिक जीवन में जिस मुद्रा के लिए काम करते हैं। रोज सुबह उठ कर काम पर जाते हैं, दिन भर मेहनत करते हैं। हमारे आसपास कई रोजगार और उद्योग भी इसी के आधार पर चलते हैं की उसके पास पूंजी कितनी हैं। यह सभी रोजगार और उद्योग के साथ ही हमे यह भी पता चलता है की यह हमारे लिए कितनी जरुरी हैं, इसका भी हमे पता चलता है। 

भारतीय मुद्रा को कौन छापता हैं इसके बारे में तो हम जानते हैं की यह नेक काम भारतीय रिज़र्व बैंक दुवारा किया जाता हैं। यह बैंक जब यह नोट छाप सकती हैं तो फिट ज्यादा नोट छाप कर देश में गरीबी क्यों नही मिटा सकती हैं ? क्या आपने कभी सोचा हैं ? आपने नही सोचा होगा खैर आपको इसके बारे इस बता देते हैं। 

Reserve Bank of India मुद्रा कैसे छापती हैं ? 

भारत में पैसा एवं नोट कैसे छपते हैं RBI Process

भारतीय रिज़र्व बैंक नोट छापने के लिए जिस प्रोसेस का इस्तेमाल करती हैं उसमे सोने यानी गोल्ड का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहता हैं। जितना सोना आरबीआई के पास होता उतने सोने का ही वो पैस छपेगा। इसके लिए पूरा महत्वपूर्ण प्रोसेस है। 

हम यह सोच रहे हैं की रिज़र्व बैंक अपनी मर्जी से नोट छाप दे तो ऐसा नही हैं। एक नोट को प्रिंट करने में भी रिज़र्व बैंक पूरा प्रोसेस फॉलो करती हैं जैसे सामान्य तौर पर करती हैं। हालाँकि यह अप्रत्यक्ष रूप से यह पूरा प्रोसेस और प्रक्रिया केंद्र सरकार के अधीन होती है। 

पैसे छापने में कितना खर्चा आता है?

क्या आप जानते हैं की भारतीय मुद्रा छापने में भी काफी खर्चा आता हैं। एक नोट छापने के लिए जो खर्चा आता हैं वो हर मुद्रा में अलग – अलग हैं यानी 10 के नोट के लिए अलग खर्चा आता हैं 20, 50, 100, 200, 500, 2000 रूपये के नोट को छापने के लिए अलग – अलग खर्चा आता हैं। 

एक नोट को छपने में कई बार इस मुद्रा से ज्यादा खर्चा आता हैं और कुछ में तक़रीबन 10 से 40 रूपये तक का खर्च आता हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक अगर 500 का नोट छापती हैं तो उसके लिए रिज़र्व बैंक को तक़रीबन 2 रूपये का खर्चा आता हैं। हालाँकि यह हर प्रकार के नोट में अलग – अलग हो सकता हैं। 

इस सब के अलावा जब भी देश में नए नोट छपते हैं तो इसके लिए कई नियमों के दायरे में रह कर नए – नए नोट छापे जाते हैं। जितना सोना भारतीय रिज़र्व बैंक के पास होता हैं उतने ही नोटों की छपाई के लिए भारतीय रिज़र्व प्रतिबंधित हैं।

नोट कौन छपता है ?

हम यह सब जानते हैं की भारत में केवल एक मात्र ऐसी बैंक हैं जो नोट छापने का काम करती हैं। क्या आप इसके बारे में जानते हैं की यह नोट छापने का काम कौन कैसे करती हैं ? इसके लिए केवल एक ही नहीं बल्कि देश में 4 सरकारी प्रिंटिंग मशीन और शाखा हैं जो देश में नोट छपाई का काम करती हैं। 

भारत में 4 सरकारी प्रिंटिंग मशीन हैं जो यह काम करती हैं उनमे से यह देश के अलग – अलग कोनों में आई हुई हैं यह चारो नासिक, देवास, मैसूर और सालबोनी में आई हुई हैं। देश में यह 4 ही प्रिंटिंग प्रेस हैं जो सरकारी हैं और रिज़र्व बैंक के साथ इनका विशेष अनुबंध हैं और यहा पर ही नोटों की छपाई की जाती हैं। 

पुराने और फटे नोटों के साथ क्या किया जाता हैं ? 

अगर कोई नोट पुराना होता हैं और फट जाता हैं तो उसके साथ किया जाता हैं। ऐसे नोट के साथ क्या किया जाता हैं उसके बारे में आपको हम बताते हैं। अगर कोई नोट पुराना हो जाता हैं या फट जाता हैं तो वह वापस रिज़र्व बैंक में भेज दिया जाता हैं। 

नोट जिस नंबर का होता हैं उस नंबर का नोट वापस छपता हैं और उसके बाद उसके साथ उन्हें शायद जला दिया जाता हैं। ऐसे ही नोट का प्रोसेस होता हैं। इसके अलावा और भी कई प्रोसेस हैं जो इस बैंक और नियम के साथ चलते हैं। 

नोट कब छपते हैं ?

नोट कैसे छपते हैं इसके बारे में आपको बताया गया हैं। नोट कब छपते हैं इसके बार में आपको जानना चाहिए। नोट छापने के लिए विशेष प्रकार की स्याही और विशेष प्रकार के पेज का इस्तेमाल किया जाता हैं। 

हालाँकि इसका पूरा और सटीक प्रोसेस आपको नहीं बता सकते हैं क्योंकि यह नोट छपाई की सुरक्षा के लिहाज से सही नही हैं। नोट की डिजाईन और छपाई इन्ही प्रिंटिंग प्रेस में होती हैं जिनके बारे में आपको बताया गया हैं।

हमारे आसान भाषा में लिखे इस लेख में आपको RBI paise kab aur kaise chapta hai के बारे में बताया गया हैं। उम्मीद करते हैं की आपको यह लेख पसंद आया होगा।

लेख से क्या सीखा।

  1. आरबीआई क्या है
  2. रिजर्व बैंक नोट कब छपती है।
  3. पुराने और फटे हुए नोट का क्या किया जाता है
  4. नोट कैसे छपते हैं।

FAQ –

रिजर्व बैंक नोट कैसे छपते हैं।

रिजर्व बैंक अपनी मर्जी से नोट नहीं छाप सकती रिजर्व बैंक के पास जितना सोना होगा एवं उस सोने की जितनी कीमत होगी उतना पैसा RBI छपता है।

नोट छापने में आरबीआई का कितना खर्चा होता है ?

रिजर्व बैंक को ₹500 का नोट छापने में ₹2 का खर्चा आता है परंतु ऐसा नहीं है कि सभी नोट छापने में सिर्फ ₹2 का खर्चा आए अलग-अलग नोट के साथ अलग-अलग रुपए का खर्चा आता है।

फटे हुए नोट का आरबीआई क्या करता है ?

अगर कोई नोट फट जाता है या फिर पुराना होता है तो वह नोट आरबीआई के पास वापस भेज दिया जाता है और आरबीआई उस नोट के नंबर का दूसरा नोट छाप देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here